What is Key, Key-Way, Hub | Types of Key's | Types of Key Material | 'की' क्या है | 'की' के प्रकार | 'की' का प्रयोग


What is Key, Key-Way, Hub ( 'की' क्या है। )

मशीनों के पार्टो को अस्थाई रूप से जोड़ने के लिए कई प्रकार के माध्यम का प्रयोग किए जाते है जिनमें Key चाबी एक प्रमुख साधन है। 'की' Key : चाबी यह शाफ्ट और हब के बीच में शाफ्ट की धूरी के समान्तर फिट की जाती है. Key का साइज शाफ्ट के व्यास के अनुसार रखा जाता है।
'की' Key : चाबी का प्रयोग गीयर (Gear), पुल्ली (Pulley) और व्हील (Wheel) इत्यादि को शाफ्ट के साथ एक ही धुरी पर फिट करने के लिए किया जाता है। जिसे Key way कहते है। Key 'की', शाफ्ट और हब जो Mating parts है उनके मध्य की Relative motion सापेक्ष गति को रोकती है। इस प्रोसेस में Key, Key way तथा Hub का प्रयोग होता है

Types of Key Material ( 'की' किन धातुओं की बनाई जाती है।)

  • Carbon Steel (कार्बन स्टील)
  • Mild Steel (माइल्ड स्टील)
  • Wood (लकड़ी)

Types of Key Classification ( 'की' को इस प्रकार वर्गीकृत किया गया है )

  1. Sunk key (संक 'की')
  2. Saddle key (सैडल 'की')

  • Sunk key (संक 'की')

इस प्रकार की 'की' (Key) को फिट करने के लिए शाफ्ट और हब (Hub) दोनों में Key ways या चाबी घाट बनाया जाता है।

Types of Sunk key ( सैडल 'की' के प्रकार )

  • Parallel keys ( समान्तर-की )
  • Taper Key ( टेपर 'की' )
  • Gib-Head Keys ( जिब-हैड 'की' )
  • Wood Ruff Keys ( वुड रफ की )
  • Dovetail Key ( डवटेल-की )
  • Tangential Keys ( टेंजेंटियल-की )
  • Round Key ( राऊण्ड 'की' )
  • Feather Key ( फीदर 'की' )

After Passing iTi Career Option | iTi के बाद क्या करें? Apprentice या Job 


  • Saddle key (सैडल 'की'

इस प्रकार की 'की' (Key) को फिट करने के लिए शाफ्ट पर ‘की'-वेज (Keyways) काटने की आवश्यकता नहीं होती है। यह हल्के कामों के लिए प्रयोग की जाती है क्योंकि भारी कामों में यह फिसल (Slip) जाती है।

Types of Saddle key ( यह दो प्रकार की होती है )

  • (A) Flat Saddle Key (फ्लैट सैडल'की')
  • (B) Hollow Saddle Key (हालो सैडल 'की')

Parallel keys ( समान्तर-'की' )

Parallel keys ( समान्तर-'की' )

इस प्रकार की (Keys) 'की' की मोटाई एक समान होती है। यह Relative rotation से बचाती है तथा यह हब की स्लाइडिंग (Sliding) या धूरी की सीध की Axial movement की इजाजत देती है।

Taper Key ( टेपर 'की' )

इस प्रकार की Keys आयताकार क्रास सैक्शन में बनी होती है तथा यह मोटाई में एक समान 1 : 100 में टेपर होती है। जो Key को Hub और Shaft को मज़बूती प्रदान करती है। Hub पर बनी Key seat/key ways गहराई में 1 : 100 में टेपर बना होता है।
टेपर की Taper key तीन प्रकार की होती है-
(i) Type A : इसके दोनों किनारे गोलाई में होते है।
(ii) Type B: इसके दोनों किनारे वर्गाकार होते है।
(iii) Type C: इसका एक किनारा गोलाई में और दूसरा वर्गाकार होता है।

Gib-Head Keys ( जिब-हैड 'की' )

Gib-Head Keys ( जिब-हैड 'की' )

यह एक टेपर 'की' है जिसका हैड वर्गाकार और 30° पर चैम्फर होता है। इसका हैड मोटे सिरे पर बना होता है। इसके हैड की सहायता से इसे आसानी से बाहर भी निकाला जा सकता है।

Wood Ruff Keys ( वुड रफ की )

Wood Ruff Keys ( वुड रफ की )

यह वृतखण्ड के आकार की होती है और शाफ्ट पर बनी Key ways की सीध में फिट होती है। Key का Flat भाग Hub के Key way में फिट होता है। इस Key का उपयोग Light duty drive में किया जाता है। Woodruff Key का प्रयोग लेथ मशीन में Taper shaft पर Wheel Handle को फिट करने के लिए किया जाता है।

Dove tail Key ( डवटेल-की )

Dovetail Key ( डवटेल-की )

यह Key Dove Tail key के आकार में बनी होती है। इस Key का Rectangular भाग Shaft में फिट होता है और Dovetail भाग Hub में फिट होता है। इन्हें फिट करने के लिए Soft Hammers का प्रयोग किया जाता है।

Tangential Keys ( टेंजेंटियल-की )

Tangential Keys ( टेंजेंटियल-की )

इस प्रकार की Key जोड़े (Pair) में प्रयोग की जाती है यह शाफ्ट के साथ Tangential (स्पर्श रेखीय) फिट होती है यह 60 mm से 500mm व्यास की शाफ्टों में प्रयोग की जाती है। यह 120° के कोण पर स्थित होती है। यह Flywheel और Rolling mills में प्रयोग करते है।

Round Key ( राऊण्ड 'की' )

Round Key ( राऊण्ड 'की' )

यह गोल पिन की तरह होती है। इसका क्रास सैक्शन गोल होता है। इसे भी शाफ्ट और हब में बने राऊण्ड 'की'-वेज में फिट किया जाता है। कुछ राऊण्ड 'की' टेपर भी होती हैं।
टेपर राऊण्ड का डायामीटर 2:100mm होता है अर्थात् 100 मि.मी. डाया (Dia) में 2mm की टेपर होती है।

Feather Key ( फीदर 'की' )

Feather Key

यह प्लेन 'की' या राऊण्डड 'की की तरह होती है। इसका प्रयोग वहां किया जाता है, जहां पार्ट शाफ्ट के साथ घूमते भी हैं और शाफ्ट की धुरी के समान्तर आगे पीछे भी चलते खिसकते (Slide) करते हैं। यह 3 प्रकार की होती हैं

(i) Peg Feather Key ( पैग फीदर 'की' )

Peg Father key

इसके सैन्टर में इस मोटाई के बराबर व्यास का गोलाकार पैग बना होता है, जिसे हब के 'की' वेज में बने सुराख में फिट करके प्रयोग किया जाता है।

(ii) Single Headed Feather Key ( सिंगल हैडिड फीदर 'की' )

Single Double Headed Key

इस प्रकार की 'की' एक प्लेन की तरह होती है लेकिन इसके एक सिरे पर हैड बना होता है, जिसे हब के साथ एक स्क्रू के द्वारा फिट किया जाता है।

(iii) Double Headed Feather Kay ( डबल हैडिड फीदर 'की' )

इसमें दोनों सिरों पर हैड बने होते हैं तथा यह हब के साथ ही आगे पीछे स्लाइड करती है।

(A) Flat Saddle Key (फ्लैट सैडल'की')

Flat Saddle Key (फ्लैट सैडल'की'

इस 'की' (Key) की निचली सतह फ्लैट होती है, इसलिए इसे फिट करते समय शाफ्ट को उसकी सतह के अनुसार फाइल या मशीन द्वारा फ्लैट कर लिया जाता है। इसलिए इसे फ्लैट 'सैडल की' कहते हैं। इसका प्रयोग हल्के कामों के लिए किया जाता है।

(B) Hollow Saddle Key (हालो सैडल 'की')

Hollow Saddle Key

यह भी ‘फ्लैट सैडल यह 'की' key की तरह होती है, अन्तर सिर्फ इतना है कि इसकी निचली सतह फ्लैट न होकर गोलाई में होती है। यह गोलाई शाफ्ट के अनुसार होती है। यह हल्के कार्यों के लिए प्रयोग की जाती है।

Information of Key's ( 'की' महतवूर्ण जानकारी )

  1. 'की' Key का साइज शाफ्ट के व्यास के अनुसार रखा जाता है।
  2. संक 'की' को फिट करने के लिए शाफ्ट व हब दोनों में ग्रुव कटे होते है।
  3. सैडल 'की' इसमें ग्रुव केवल हब में ही कटा होता है। 
  4. Key ways का दूसरा नाम Key Seat है। 
  5. 'की' आपेक्षिक गति (Relative motion) गति को रोकता हैं।
  6. जिस steel से 'की' बनाई जाती है उसका Tensile Strength 60 MN/m°: 60 Kg/mm होता है। 
  7. Taper Key का अनुपात 1:100 होता है। 
  8. Gib Head Key का Head 30° पर चैंफर होता है।
  9. वुड रफ-'की' का आकार वृत्तखंड की तरह होता है।
  10. वुड रफ-'की' का प्रयोग टेपर शाफ्ट पर किया जाता है। 
  11. प्लेन Round Key का टेपर 1:50 होता है।

Post a comment

0 Comments